Sunday, 8 July 2018



देश की राजनीती में टीवी मिडिया के गैर जरूरी बयान
--------------------------------------------------------------

भारतीय राजनीती अपने उबाल पर है। कहीं पक्ष -विपक्ष में घमासान तो कभी बलात्कार -मर्डर -आंदोलन पर घमासान। किसी भी मुद्दे पर पांच पार्टियों के छह वक्ता मुद्दे को सुलझाने की बजाय अनर्गल भाषा से उलझा देते हैं। कोई झुकने को तैयार नहीं।

कुछ टीवी एंकर भी कुछ ज्यादा ही उत्तेजना पूर्ण वक्तव्य देकर या गैर जरूरी वक्तव्य देकर माहौल को गरमा देते /देती हैं। जैसे आज बुरहान बानी के दो साल पर कश्मीर अलगाववादियों ने कश्मीर बंद का आहवान किया। इस पर कुछ टीवी चैनल पर बार -बार बुरहान की फोटो दिखाई गई तो कभी बार -बार अलगाववादी नेताओ की फोटो दिखाई गई। कोई पूछे क्या जरूरत थी इनकी फोटो दिखाने की ?सिर्फ सेना की सतर्कता दिखाते बार -बार
सेना का जनता को सहयोग दिखाते और बंद के विरोधियों की धर -पकड़ दिखाते।

ऐसे ही कल कुछ टीवी चैनल पर चीन सीमा पर बना नया ३५३ किलोमीटर का हाइवे का समाचार आ रहा था। जिसमें टीवी एंकर बढ़ -चढ़ कर बोल रहे थे की अब चीन की शामत आई ,अब चीन पर चढ़ाई कर देंगे ,अब चीन का गला घोठ देंगे ,अब चीन की सीमा पर तोपे लगा देंगे ,आदि आदि बातें। अब कोई इनसे पूछे की तुमने चीन को पाकिस्तान समझ लिया है क्या ?की जब चाहे धमकी दे दो। आज चीन प्रत्येक छेत्र में भारत से कई गुणा आगे है। उससे पार पाना आसान नहीं है। ऐसे ही कभी भारत के पास कितना गोला - बारूद -हथियार -लड़ाकू विमान
आदि हैं उनकी गिनती बताने लगते हैं। सिर्फ यही नहीं पाकिस्तान और चीन के मुकाबले भारत के पास क्या है और क्या नहीं है यह भी दहाड़ -दहाड़ कर बताने लगते हैं।

अब आप ही सोचो क्या यह ठीक है ?यह सब देश हित में नहीं है। बुरहान बानी को हीरो बना दिया मिडिया ने।
अलगाववादियों को हीरो बनाया मिडिया ने। कुछ देशद्रोही बयान देने वालो को हीरो बना दिया मिडिया ने। यदि मिडिया इन सबको ना दिखाये तो इनको ना कोई पहचाने गा न ही इनके समर्थक होंगे। यह सब देशहित में नहीं है। इन्ही कारणों से देश में घमासान मच रहा है।                                         http://suniljainrana.blogspot.in/

No comments:

Post a Comment